भारत के राष्ट्रपति की सूचि आजादी से अभी तक का 1947 से लेकर अभी तक कौन -कौन से हमारे देश में राष्ट्रपति के पद पर कार्यकरत हुवे उनके नाम और उनका जन्म कब हुआ , और उनकी मृत्यु कब हुइ , और उनका कार्यकाल कितने दिनों तक का रहा सारा जानकारी पूरी डिटेल्स के साथ हम लोग जानेंगे तो आइये शुरू करते है।।।।।

भारत का राष्ट्रपति देश का मुखिया और भारत का प्रथम नागरिक है। राष्ट्रपति के पास भारतीय सशस्त्र सेना की भी सर्वोच्च कमान है। भारत का राष्ट्रपति लोक सभा, राज्यसभा और विधानसभा के निर्वाचित सदस्यों द्वारा चुना जाता है। भारत के राष्ट्रपति का कार्यकाल 5 वर्षों का होता है।

 भारत की स्वतंत्रता से अबतक 13 राष्ट्रपति हो चुके है। भारत के राष्ट्रपति पद की स्थापना भारतीय संविधान के द्वारा की गयी है। इन 13 राष्ट्रपतियों के अलावा 3 कार्यवाहक राष्ट्रपति भी हुए है जो पदस्थ राष्ट्रपति की मृत्यु के बाद बनाये गए है। भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ॰ राजेंद्र प्रसाद थे

  • डॉ॰ राजेंद्र प्रसाद भारत के आजादी के बाद देश के प्रथम राष्ट्पति थे।
  • डॉ॰ राजेंद्र प्रसाद का जन्म 1884 में और उनकी मृत्यु 1963 में हुआ था।
  • डॉ॰ राजेंद्र प्रसाद बिहार के रहने वाले थे।
  • डॉ॰ राजेंद्र प्रसाद दो बार राष्ट्रपति बनने वाले देश के पहले राष्ट्रपति थे।
  • डॉ॰ राजेंद्र प्रसाद एक स्वतंत्रता सेनानी भी थे।
  • उनका कार्यकाल की अवधी 26 जनवरी 1950 से लेकर 13 मई 1962 तक का रहा था।
  • उनके कार्यकाल के समय डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन देश के उपराष्ट्रपति थे।
  • डॉ॰ राजेंद्र प्रसाद पहली बार 1942 में और दूसरी बार 1957 में राष्ट्रपति का पद संभाले थे।

2 . डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन

  • डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन भारत के आजादी के बाद देश के दूसरे राष्ट्पति थे।
  • डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म 1888 में और उनकी मृत्यु 1975 में हुआ था।
  • डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन तमिलनाडु  के रहने वाले थे।
  • डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन सन् 1954 में भारत सरकार ने उन्हें सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से अलंकृत किया था। 
  • उनका कार्यकाल की अवधी 13 मई 1962 से लेकर 13 मई 1967 तक का रहा था।
  • उनके कार्यकाल के समय ज़ाकिर हुसैन देश के उपराष्ट्रपति थे।
  • डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन पहली बार 1962 में राष्ट्रपति का पद संभाले थे।
  • डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन एक दर्शनशास्त्री और लेखक थे।
  • वे आंध्र विश्वविधालय और काशी हिन्दू विश्वविधालय के कुलपति भी थे।
  • उनका जन्मदिन (5 सितम्बर) भारत में शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है।तमिलनाडु तमिलनाडु 

3 . ज़ाकिर हुसैन

  • डॉ ज़ाकिर हुसैन भारत के आजादी के बाद देश के तीसरे राष्ट्पति थे।
  • डॉ ज़ाकिर हुसैन का जन्म 1897 में और उनकी मृत्यु 1969 में हुआ था।
  • डॉ ज़ाकिर हुसैन हैदराबाद  के रहने वाले थे।
  • डॉ ज़ाकिर हुसैन सन् 1963 में भारत सरकार ने उन्हें सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से अलंकृत किया था। 
  • उनका कार्यकाल की अवधी 13 मई 1967 से लेकर 3 मई 1969 तक का रहा था।
  • उनके कार्यकाल के समय वराहगिरि वेंकट गिरि देश के उपराष्ट्रपति थे।
  • डॉ ज़ाकिर हुसैन पहली बार 1967 में राष्ट्रपति का पद संभाले थे।
  • डॉ ज़ाकिर हुसैन एक स्वतंत्रता सेनानी और प्रथम मुस्लिम राष्ट्रपति थे।
  • वे अलीगढ़ विश्वविद्यालय के उपकुलपति बने तथा उनकी अध्यक्षता में ‘विश्वविद्यालय शिक्षा आयोग’ भी गठित किया गया।
  • डॉ॰ जाकिर हुसैन ने बिहार के राज्यपाल के रूप में भी सेवा की।

वराहगिरि वेंकट गिरि

  • वराहगिरि वेंकट गिरि का जन्म 1894 में और उनकी मृत्यु 1980 में हुआ था।
  • वराहगिरि वेंकट गिरि ब्रह्मपुर, ओड़िशा  के रहने वाले थे।
  • वराहगिरि वेंकट गिरि सन् 1975 में भारत सरकार ने उन्हें सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से अलंकृत किया था। 
  • उनका कार्यकाल की अवधी 3 मई 1969 से लेकर 20 जुलाई 1969 तक का रहा था।
  • वी.वी. गिरि पदस्थ राष्ट्रपति ज़ाकिर हुसैन की मृत्यु के बाद कार्यवाहक राष्ट्रपति बने।
  • वराहगिरि वेंकट गिरि पहली बार 1969 में राष्ट्रपति का पद संभाले थे।
  • भारतीय इतिहास में पहली बार वी वी गिरी कांग्रेस उमीदवार को हरा कर राष्ट्रपति चुनाव जीते।
  • उनके सम्मान में भारतीय डाक एवं तार विभाग ने 25 पैसे का डाक टिकट भी जारी किया था।

मुहम्मद हिदायतुल्लाह

  • मुहम्मद हिदायतुल्लाह का जन्म 1905 में और उनकी मृत्यु 1992 में हुआ था।
  • मुहम्मद हिदायतुल्लाह लखनऊ  के रहने वाले थे।
  • मुहम्मद हिदायतुल्लाह भारत के पहले मुस्लिम मुख्य न्यायाधीश थे।
  • उनका कार्यकाल की अवधी 20 जुलाई 1969 से लेकर 24 अगस्त 1969 तक का रहा था।
  • नया रायपुर में स्थित हिदायतुल्लाह राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय का नाम उनके नाम पर रखा गया है।
  • मुहम्मद हिदायतुल्लाह पहली बार 1969 में राष्ट्रपति का पद संभाले थे।
  • मुहम्मद हिदायतुल्लाह एक पूरे कार्यकाल के लिए भारत के छठे उपराष्ट्रपति भी रहे|
  • हिदायतुल्लाह भारत के सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश और आर्डर ऑफ ब्रिटिश इंडिया के प्राप्तकर्ता थे

4 . वराहगिरी वेंकट गिरी

  • वराहगिरि वेंकट गिरि भारत के आजादी के बाद देश के चौथे राष्ट्पति थे।
  • वराहगिरि वेंकट गिरि का जन्म 1894 में और उनकी मृत्यु 1980 में हुआ था।
  • वराहगिरि वेंकट गिरि ब्रह्मपुर, ओड़िशा के रहने वाले थे।
  • वराहगिरि वेंकट गिरि सन् 1975 में भारत सरकार ने उन्हें सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से अलंकृत किया था।
  • उनका कार्यकाल की अवधी 24 अगस्त 1969 से लेकर 24 अगस्त 1974 तक का रहा था। 
  • वराहगिरि वेंकट गिरि पहली बार 1969 में राष्ट्रपति का पद संभाले थे।
  • भारतीय इतिहास में पहली बार वी वी गिरी कांग्रेस उमीदवार को हरा कर राष्ट्रपति चुनाव जीते।
  • उनके सम्मान में भारतीय डाक एवं तार विभाग ने 25 पैसे का डाक टिकट भी जारी किया था।
  • गिरि एकमात्र व्यक्ति थे जो कार्यवाहक राष्ट्रपति और राष्ट्रपति दोनों बन।
  • उनके कार्यकाल के समय गोपाल स्वरुप पाठक देश के उपराष्ट्रपति थे।चौथे 

5 . फ़ख़रुद्दीन अली अहमद

  • फ़ख़रुद्दीन अली अहमद भारत के आजादी के बाद पांचवे देश के राष्ट्पति थे।
  • फ़ख़रुद्दीन अली अहमद का जन्म 1894 में और उनकी मृत्यु 1980 में हुआ था।
  • फ़ख़रुद्दीन अली अहमद ब्रह्मपुर, ओड़िशा के रहने वाले थे।
  • फ़ख़रुद्दीन अली अहमद सन् 1975 में भारत सरकार ने उन्हें सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से अलंकृत किया था।
  • उनका कार्यकाल की अवधी 24 अगस्त 1974 से लेकर 11 फरवरी 1977 तक का रहा था।
  • फ़ख़रुद्दीन अली अहमद पहली बार 1974 में राष्ट्रपति का पद संभाले थे।
  • 1940 में सत्याग्रह आंदोलन एवं 1942 में भारत छोडो आंदोलन के समर्थन की वजह से जेल गए।
  • इन्दिरा गान्धी के कहने पर उन्होंने 1975 में अपने संवैधानिक अधिकार का इस्तेमाल किया और आंतरिक आपातकाल की घोषणा कर दी।
  • 11 फरवरी 1977 (उम्र:72) में हृदयगति रुक जाने से अहमद का कार्यालय में निधन हो गया।

बासप्पा दनप्पा जत्ती

  • बासप्पा दनप्पा जत्ती कार्यवाहक राष्ट्रपति थे।
  • 1977 में राष्ट्रपति फ़ख़रुद्दीन अली अहमद के निधन के बाद छह माह तक भारत के राष्ट्रपति रहे।
  • 7 जून 2002 को बंगलोर में उनकि मृत्यु हो गई जब वे 88 साल के थे।

6 . नीलम संजीव रेड्डी

  • नीलम संजीव रेड्डी भारत के आजादी के बाद देश के छठे राष्ट्पति थे।
  • नीलम संजीव रेड्डी का जन्म 1913 में और उनकी मृत्यु 1996 में हुआ था।
  • नीलम संजीव रेड्डी आन्ध्र प्रदेश के रहने वाले थे।
  • उनका कार्यकाल की अवधी 25 जुलाई 1977 से लेकर 25 जुलाई 1982 तक का रहा था।
  • वे भारत के पहले गैर काँग्रेसी राष्ट्रपति थे।
  • नीलम संजीव रेड्डी आन्ध्र प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री थे।
  • रेड्डी आन्ध्र प्रदेश से चुने गए एकमात्र सांसद थे।

7 . ज्ञानी जैल सिंह

  • ज्ञानी जैल सिंह भारत के आजादी के बाद देश के सातवें राष्ट्पति थे।
  • ज्ञानी जैल सिंह का जन्म 1916 में और उनकी मृत्यु 1994 में हुआ था।
  • ज्ञानी जैल सिंह पंजाब के रहने वाले थे।
  • उनका कार्यकाल की अवधी 25 जुलाई 1982 से लेकर 25 जुलाई 1987 तक का रहा था।
  • ज्ञानी जैल सिंह 1982 में भारत के गौरवमयी राष्ट्रपति के पद पर आसीन हुए।
  • ज्ञानी जैल सिंह सिख धर्म के विद्वान पंजाब के मुख्यमंत्री थे।
  • 1987 तक के अपने कार्यकाल के दौरान इन्हें ‘आपरेशन ब्लूस्टार’ एवं इंदिरा गांधी की हत्या जैसी दुर्भाग्यपूर्ण परिस्थितियों से गुजरना पड़ा।

8 . रामास्वामी वेंकटरमण

  • रामास्वामी वेंकटरमण भारत के आजादी के बाद देश के आठवें राष्ट्पति थे।
  • रामास्वामी वेंकटरमण का जन्म 1910 में और उनकी मृत्यु 2009 में हुआ था।
  • रामास्वामी वेंकटरमण तमिलनाडु में तंजौर के रहने वाले थे।
  • उनका कार्यकाल की अवधी 25 जुलाई 1987 से लेकर 25 जुलाई 1992 तक का रहा था।
  • रामास्वामी वेंकटरमण 1987 में भारत के गौरवमयी राष्ट्रपति के पद पर आसीन हुए।

9 . शंकरदयाल शर्मा

  • शंकरदयाल शर्मा भारत के आजादी के बाद देश के नवें राष्ट्पति थे।
  • शंकरदयाल शर्मा का जन्म 1918 में और उनकी मृत्यु 1999 में हुआ था।
  • शंकरदयाल शर्मा भोपाल के रहने वाले थे।
  • उनका कार्यकाल की अवधी 25 जुलाई 1992 से लेकर 25 जुलाई 1997 तक का रहा था।
  • शंकरदयाल शर्मा 1992 में भारत के गौरवमयी राष्ट्रपति के पद पर आसीन हुए।
  • शंकरदयाल शर्मा भोपाल राज्य के मुख्यमंत्री (1952-1956) रहे।
  • शंकरदयाल शर्मा 1985 से 1986 तक पंजाब के राज्यपाल रहे।
  • शंकरदयाल शर्मा आंध्रा और महाराष्ट्र के भी राज्यपाल भी थे।

10 . के. आर. नारायणन

  • के. आर. नारायणन भारत के आजादी के बाद देश के दसवें राष्ट्पति थे।
  • के. आर. नारायणन का जन्म 1920 में और उनकी मृत्यु 2005 में हुआ था।
  • के. आर. नारायणन नई दिल्ली के रहने वाले थे।
  • उनका कार्यकाल की अवधी 25 जुलाई 1997 से लेकर 25 जुलाई 2002 तक का रहा था।
  • के. आर. नारायणन 1997 में भारत के गौरवमयी राष्ट्रपति के पद पर आसीन हुए।
  • के. आर. नारायणन चीन,तुर्की,थाईलैंड और संयुक्त राज्य अमेरिका में भारत के राजदूत रह चुके थे।
  • के. आर. नारायणन विज्ञान और कानून में डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त थी।
  • के. आर. नारायणन जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय के कुलपति भी रह चुके हैं .

11 . ऐ. पी. जे. अब्दुल कलाम

  • ऐ. पी. जे. अब्दुल कलाम भारत के आजादी के बाद देश के ग्यारहवें राष्ट्पति थे।
  • ऐ. पी. जे. अब्दुल कलाम का जन्म 1931 में और उनकी मृत्यु 2015 में हुआ था।
  • ऐ. पी. जे. अब्दुल कलाम तमिलनाडु के रहने वाले थे।
  • उनका कार्यकाल की अवधी 25 जुलाई 1997 से लेकर 25 जुलाई 2007 तक का रहा था।
  • ऐ. पी. जे. अब्दुल कलाम 2002 में भारत के गौरवमयी राष्ट्रपति के पद पर आसीन हुए।
  • ऐ. पी. जे. अब्दुल कलाम भारत के पूर्व राष्ट्रपति, जानेमाने वैज्ञानिक और अभियंता (इंजीनियर) के रूप में विख्यात थे। मिसाइल और परमाणु हथियार बनाने मुख्य योगदान दिया।
  • ऐ. पी. जे. अब्दुल कलाम को मिसाइल मैन और जनता के राष्ट्रपति के नाम से जाना जाता है\
  • ऐ. पी. जे. अब्दुल कलाम का पूरा नाम अबुल पाकिर जैनुलअब्दीन अब्दुल कलाम है।
  • ऐ. पी. जे. अब्दुल कलाम भारत रत्न 1997 में भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान सहित कई प्रतिष्ठित पुरस्कार प्राप्त किये।

12 . प्रतिभा पाटिल

  • प्रतिभा पाटिल भारत के आजादी के बाद देश के बारहवें राष्ट्पति थे।
  • भारत के 60 साल के इतिहास में पहली महिला राष्ट्रपति बनी।
  • प्रतिभा पाटिल का जन्म 1934 में हुआ था।
  • प्रतिभा पाटिल महाराष्ट्र के रहने वाले थे।
  • उनका कार्यकाल की अवधी 25 जुलाई 2007 से लेकर 25 जुलाई 2012 तक का रहा था।
  • प्रतिभा पाटिल 2007 में भारत के गौरवमयी राष्ट्रपति के पद पर आसीन हुए।
  • प्रतिभा सिंह पाटिल भारत की प्रथम महिला राष्ट्रपति बनी थी.
  • 1 जून 2019 को भारत की पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल को विदेशियों को दिए जाने वाले मेक्सिको के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार ‘ऑर्डेन मेक्सिकाना डेल एग्वेला एज्टेका’ (ऑर्डर ऑफ एज्टेक ईगल) से सम्मानित किया गया।
  • प्रतिभा पाटिल यह पुरुस्कार पाने वाली भारत की दूसरी राष्टपति बनी।
  • वह राजस्थान की भी प्रथम महिला राज्यपाल थी।

13 . प्रणब मुखर्जी

  • प्रणब मुखर्जी भारत के आजादी के बाद देश के तेरहवें राष्ट्पति थे।
  • प्रणब मुखर्जी का जन्म 1935 में और मृत्यु 2020 में हुआ था।
  • प्रणब मुखर्जी पश्चिम बंगाल के रहने वाले थे।
  • उनका कार्यकाल की अवधी 25 जुलाई 2012 से लेकर 25 जुलाई 2017 तक का रहा था।
  • प्रणब मुखर्जी 2012 में भारत के गौरवमयी राष्ट्रपति के पद पर आसीन हुए।
  • प्रणब मुखर्जी 26 जनवरी 2019 को प्रणब मुखर्जी को भारत रत्न से सम्मानित किया गया है!
  • प्रणब मुखर्जी सन 2007 में भारत के दूसरे सबसे बड़े नागरिक सम्मान पद्म विभूषण से नवाजा गया।
  • प्रणब मुखर्जी ने किताब ‘द कोलिएशन ईयर्स: 1996-2012’ लिखा है।

14 . राम नाथ कोविन्द

  • राम नाथ कोविन्द भारत के आजादी के बाद देश के चौदहवें राष्ट्पति है।
  • राम नाथ कोविन्द का जन्म 1945 में हुआ है ।
  • राम नाथ कोविन्द उत्तर प्रदेश के रहने वाले है ।
  • उनका कार्यकाल की अवधी 25 जुलाई 2017 से लेकर अभी तक का रहा है ।
  • राम नाथ कोविन्द 2017 में भारत के गौरवमयी राष्ट्रपति के पद पर आसीन हुए।
  • राम नाथ कोविन्द राज्यसभा सदस्य तथा बिहारराज्य के राज्यपाल रह चुके हैं।
  • राम नाथ कोविन्द लगातार 12 वर्ष तक राज्य सभा के सदस्य रहे।
  • वह ‘भाजपा दलित मोर्चा’ के राष्ट्रीय अध्यक्ष और ‘अखिल भारतीय कोली समाज’ के अध्यक्ष भी रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *